Loading...
सोमवार, मई 31, 2010

कविताः महाप्रयोग

विश्व के वैज्ञानिक
कर रहे हैं महाप्रयोग
विज्ञान चाहता है ढूंढना
रहस्य महा शून्य के
रहस्य उत्पत्ति के
ताकि बची रहे
पूर्ण सृष्टि में
यह सृष्टि
नहीं हो रहा
कहीं कोई प्रयोग
शून्य में विलीन होती
संवेदनाओं के
रहस्य पर
सबने मान लिया कि
बची रही सृष्टि तो
संवेदना शून्य होकर भी
बचा रहेगा मनुष्य
पर क्या
बची रहेगी सृष्टि
और क्या
बचा रहेगा मनुष्य !
    - अशोक जमनानी

 
TOP