Loading...
रविवार, अक्तूबर 28, 2012

दिल्ली



दिल्ली 

एक दर्द
एक दवा
एक यकीन
कि इलाज़
पर  मर्ज़
लाइलाज़   जो तेरे
सरताज
वो तेरे
मोहताज़ 
दिल्ली
एक दुआ
क्यों दुआ
बद्दुआ ??? 

- अशोक जमनानी
 
TOP