Loading...
सोमवार, दिसंबर 17, 2012

आस्तीनें

आस्तीनें

इतनी लम्बी आस्तीनें
क्यों रखते हो तुम
जानते हो ना  
कितने सांप बेघरबार हैं

- अशोक जमनानी 



 
TOP