Loading...
शुक्रवार, जनवरी 18, 2013

बीज

बीज


लोग सियासी ही सब थे उस जगह भी मैंने नज़्म कही 
बंजर हों ज़मीनें पर फिर भी मैं बीज बिखेरा करता हूँ 

- अशोक जमनानी
 
TOP