Loading...
शनिवार, जनवरी 19, 2013

जामन

जामन


माँ दही जमाती है उन दिनों में भी
जिन दिनों हम नहीं रहते घर पर
बाबूजी और माँ नहीं खा पाते
पसंद बहुत है उन्हें
पर  साँस की तकलीफ
देती नहीं इज़ाज़त 
फिर दही क्यों जमाती हो माँ ?
मैंने पूछा था 
जब नहीं रहते हम यहाँ
और नहीं खा पाता कोई  
तब माँ ने बताया
कि मोहल्ले में कई घर हैं
जहाँ रहते हैं बूढ़े माँ-बाप
उन बच्चों के
जो आते हैं
कभी-कभी घर अपने
तब उनके लिए
कोई न कोई  माँ
जमाती है दही
और  अक्सर ऐसी कोई माँ
घर हमारे
दही जमाने के लिए
जामन लेने आती है
इसलिए माँ दही जमाती है
उन दिनों में भी
जिन दिनों हम नहीं रहते
घर पर  … 


- अशोक जमनानी
 
TOP