Loading...
शनिवार, अक्तूबर 19, 2013

हे राजन

हे राजन


हे राजन
सुरक्षित रहेगा सिंहासन
सुरक्षित रहोगे तुम भी राजन 
देखो हम भी मस्त हैं
मीडिया मदारी
नचा रहा है बंदर-भालू 
और तनी हुई रस्सी पर
नाच रही है नवयौवना
कुछ अंग उघाड़कर
और जमूरा
जमूरा तो हुज़ूर
यकीन दिला रहा है
कटे सर का झूठ मूठ
ढोलक पर ताल भी
शबाब पर है अभी
हे राजन
तुम और तुम्हारे बाद 
रहेंगे सुरक्षित सभी राजन
और सुरक्षित रहेंगे सभी सिंहासन
पर भूलना नहीं
जुटाते रहना मदारी
सजाते रहना
तमाशे
हम भी नाचेंगे सब कुछ भूल भालकर
जब तक बजेंगे
ढोल ताशे  ….

- अशोक जमनानी





 
TOP