Loading...
शुक्रवार, मार्च 14, 2014

कविता : पलाश के फूलों वाले रंग



कविता : पलाश के फूलों वाले रंग





जो शाख से जुदा हुए 
फिर मिट गए
तुम्हारे लिए 
उन पलाश के फूलों वाले रंग हैं
इन्हें पास आने से
मत रोको    …
 
- अशोक जमनानी
 
 
 
TOP